छेड़खानी के विरोध में बीएचयू की गर्ल स्टूडेंट्स उतरीं सड़कों पर, एक छात्रा ने सर मुंडवाया

वाराणसीः पीएम के आने के कुछ घंटे पहले यहां के प्रसिद्ध बीएचयू की छात्राओं ने छेड़खानी के खिलाफ लंका चैराहे पर जमकर हंगामा किया। छेड़खानी की शिकायत के बाद भी कारवाई नहीं होने से नाराज एक छात्रा ने अपने बाल मुंडवा लिया। 
पीएम नरेन्द्र मोदी बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ और महिला सुरक्षा के लिए कई योजनाएं चला रहे हैं। योगी सरकार ने एंटी रोमियो सेल का गठन किया है। लेकिन पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र के बीएचयू में पढ़ने वाली छात्रायें खुद को सुरक्षित महसूस नहीं कर रही है। पीएम नरेन्द्र मोदी के शहर में आने से चंद घंटे पहले छेड़खानी से नाराज छात्राओं ने हास्टल से निकल बीएचयू गेट के सामने चक्काजाम कर जमकर हंगामा शुरु कर दिया। छेड़खानी से आजीज आ कर एक छात्रा ने अपना सर ही मुंडवा लिया। छात्राओं के प्रदर्शन से जिला प्रशासन में हड़कम्प मचा हुआ है धरना स्थल पर भारी फोर्स को तैनात कर दिया गया है।

कैम्पस में लगातार हो रही है छेड़खानी

छात्राओं ने आरोप लगाया कि उनके साथ कैम्पस में लगातार छेड़खानी होती है। और प्राॅक्टोरियल बोर्ड को शिकायत करने पर भी कोई कार्रवाई नहीं होती है। 
कुछ छात्राओं ने आरोप लगाया कि प्राक्टोरियल बोर्ड के लोग भी छेड़खानी में शामिल रहते हैं। इस वजह से कोई कार्रवाई नहीं होती है। 

चीफ प्रॉक्टर ने छात्राओं पर दोष मढ़ दिया

छात्राओं ने बताया कि उनके साथ हास्टल के गेट पर क्लास में हर जगह आये दिन छेड़खानी होती है।कल शाम को भी त्रिवेणी हास्टल के बाहर कुछ छात्राओं के साथ छेड़खानी हुई तो छात्राओं ने चीफ प्राक्टर प्रो.ओ एन सिंह को फोन बताया तो कार्रवाई के बजाय उल्टा छात्राओं को ही वे भला बुरा कहने लगे। प्रो ओ एन सिंह ने छात्राओं से कहा कि छह बजे के बाद हास्टल के बाहर क्यों घूम रही थी।
फिलहाल अभी छात्रायें कार्रवाई की मांग को लेकर धरने पर बैठी हुई हैं और प्रशासन इस मामले पर कुछ बोलने को तैयार नहीं है।